Add To BookRack
Title:
Ramvilas Sharma
Tags:
Alochna
Critic
Capitalism
Markswaad
मार्क्सवाद
Description:
मार्क्सवादी आलोचना के क्रम में यह दूसरी किताब है । इसमें रामविलास शर्मा के नजरिए का विस्तार के साथ मूल्यांकन करते हुए उन तमाम साहित्यिक विधा रूपों और साहित्यिक प्रवृतियों का मूल्यांकन किया गया है जो विगत सत्तर साल में हिंदी साहित्य में विकसित हुई हैं । इसके अलावा आलोचना की विभिन्न अवधारणाओं का विस्तार के साथ विवेचन किया गया है ।