Add To BookRack
Title:
Sampradayikta ke Badalte Chehre (साम्प्रदायिकता के बदलते चेहरे)
Tags:
Lekh
Article
Description:
आज भू-मंडलीकरण के दौर में, सोवियत संघ के पतन के कारण अमेरिका की तानाशाही और चैधराहट को चुनौती देने वाला कोई देश नहीं है। इस पुस्तक में दर्ज रमणिका गुप्ता का यह मूल्यांकन बिल्कुल सही है कि, ”आज अमेरिका का लादेन पर हमला वह लादेन जो उसी का पैदा किया हुआ है, भी बाजारवाद की रक्षा के लिए छेड़ी गई लड़ाई है न कि आतंकवाद को खत्म करने के लिए।