Add To BookRack
Title:
Dalit Prashn Samvaad Aur Utopia
Tags:
Lekh
Article
Samvad
Description:
दलित प्रश्न: संवाद और यूटोपिया’ रमणिका गुप्ता के समाजधर्मी, प्रतिबद्ध और दलित-दृष्टि से लिखे गए संपादकीयों का सुव्यवस्थित रूप है। हम कहां जाएं. .. क्या करें... किससे फरियाद करें अभी बीस साल पहले तक दलित समाज के लिए ये प्रश्न महाप्रश्न थे। पर आज इस स्थिति में बदलाव आया है। वह पराश्रित, परामुखापेक्षी होने की बजाए आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ा है। यह आत्मनिर्भरता क्यों आई है?