Add To BookRack
Title:
Premchand ko pehli baar padhte hue
Authors:
Tags:
Premchand
Sansmaran
Description:
इस क्रम में न केवल प्रेमचन्द के बारे में हमारी समझ बढ़ती है, वरन् उस आधुनिक लेखक के बारे में भी हमारा ज्ञान बढ़ता है । और यह भी कि प्रेमचन्द का आज के सन्दर्भ में रचनात्मक महत्त्व क्या है? सो, अब यह पुस्तक हिन्दी प्रेमी पाठकों के हवाले!