Add To BookRack
Title:
Hindi Navratana Hindi Alochna Ki Pahli Kitab
Tags:
Alochna
Critic
Hindi
Kavita
Tulsidas
Surdas
Description:
हिंदी आलोचना में मेरी रुचि शुरु से ही रही है । लेकिन शुक्ल पूर्व हिंदी आलोचना के बारे में इतनी कम जानकारी थी कि जब डॉ. मैनेजर पांडेय ने मेरे सामने 'हिंदी नवरत्न' पर शोध का प्रस्ताव रखा तो पहली बार में मुझे लगा जैसे यह पुस्तक कोई काव्य संग्रह हो । इसीलिए विषय के चुनाव से लेकर इस पुस्तक के लिखे जाने तक यह सम्पूर्ण कार्य वस्तुत: उन्हीं की प्रेरणा और उत्साह का फल है ।