Add To BookRack
Title:
Aaj ka Samay Aur Markswad ke Naye Pahlu
Tags:
Lekh
Article
Markswaad
Description:
यह साल मार्क्स के जन्म का दो सौवां साल है । पिछला साल उनके महान ग्रंथ ‘पूंजी’ के प्रकाशन का डेढ़ सौवां साल था । रूस में हुई नवम्बर क्रांति के साथ ही हिन्दी के महान कवि मुक्तिबोध की शती भी विगत वर्ष मनाई गई । इन सबके परिप्रेक्ष्य में ही वर्तमान व्याख्यान को देखा जाए ।)